It’s 69th Birthday for the Independent India and here’s my wishlist for a better nation.

है हिंदुस्तान एक देश आज़ाद,
पर कुछ वजहों से हुआ बर्बाद,
आओ एक सुन्दर सा देश बनाएँ,
यह फिर से सोने की चिड़िया कहलाए।

अमीर हुआ जाए है और अमीर,
और उधर मज़बूत हुई गरीबी की ज़ंजीर,
जहाँ अमीर गरीब सब हो एक समान,
मुझे तो चाहिए वोह हिंदुस्तान।

दूसरों को नीचा दिखाना हुआ शिष्टाचार,
क्यूँ इतने नीच हुए हैं सबके विचार,
जहाँ ना करे कोई दूसरे का अपमान,
मुझे तो चाहिए वोह हिंदुस्तान।

बेटी को जनम देना किसी के लिए बोझ हो,
है दुआ, ऐसा दिन ना किसी रोज़ हो,
जब बिटिया का जनम भी लाए होठों पे मुस्कान,
मुझे तो चाहिए वोह हिंदुस्तान।

बाँट दिया सबको सरहद ने यहाँ,
पर क्या भगवान को कोई बाँट पाया यहाँ,
जहाँ ना हो कोई हिन्दू कोई मुस्लमान,
मुझे तो चाहिए वोह हिंदुस्तान।
ना साम्प्रदायिक नफ़रत की आँधी हो दरमियाँ,
मुझे तो चाहिए वोह हिंदुस्तान।

Let’s vow this Independence Day for a better nation tomorrow.

One thought on “Wishlist for a Better India”

Leave a Reply

Your email address will not be published.